Zee News Hindi: Latest News

बुधवार, 26 जनवरी 2011

ek baat

आज तिरंगे को लहराने दो लाल चौक को केसरिया हो जाने दो राजनीती के चर्मकारो तुम देश की खाल मत उधेरो इन रस्त्रवादियो की राहो में मत आओ अल्गंवादियों  के दल्लो  आज तो देश भक्त बनो तुम्हरे जात सूअर की हो गई है क्या हम आज सरम होती है आप जैसे राजनेता कुछ अच्चा नहीं होने देते  आज़ादी की कीमत दो कौड़ी कर के रख दी अग्रेज आज भी हम पर भारी है हम आज भी उनका दिया खाते है उनका दिया पहनते है आचरण भी उनके जैसा करते है अगर ऐसा  है तो तुम्हे इस आज़ादी को भोगने का कोई अधिकार नहीं आज हमारी कोठिया आनाज से भरे है लेकिन अनंदाता खुद नंगा भूखा मर रहा है  तुम अपने को देश भक्त कहते हो हमारा भारत हमारे देश सिर्फ तुम्हे २ दिन ही याद रहते है बाकी ३६३ दिन अग्रेजो की जी हुजूरी  वाह मेरे देश के नेताओ चुल्लू भर पानी मैडूब मरो तुम देश मैं पैदा ही नहीं 

1 टिप्पणी:

  1. आप के विचारों और प्रश्नों से अवश्य हि एक ना एक दिन परिवर्तन आएगा...और अहम अपने हृदय में सशक्त भारत को देख पायेंगे..

    उत्तर देंहटाएं

आपके विचार हमे प्रेरणा देते है आपके अमूल्य विचारो का स्वागत है